(Meditation) ध्यान करने के 5 महत्वपूर्ण नियमों को जाने | How To Do Meditation at Home in Hindi

क्या आप भी बहुत दिनों से ध्यान (Meditation) करना चाह रहे हैं ? पर समय की कमी और जानकारी के अभाव में आप ध्यान नहीं कर पा रहे हैं | आज का विषय (How To do Meditation at Home in Hindi) बहुत ही महत्वपूर्ण है जिसमें आपको ध्यान से संबंधित संपूर्ण जानकारी बहुत ही आसान शब्दों में दी जाएगी इसलिए बहुत ही ध्यान पूर्वक इसे पढ़िए |

आज हम जानेंगे घर पर ध्यान कैसे किया जाता है?, घर पर ध्यान करते समय हमें किन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए और ध्यान करने का तरीका क्या होता है ? हम इस विषय पर भी आज बात करेंगे | घर पर ध्यान करने के लिए हमें किन चीजों की जरूरत पड़ेगी यह सब बातें आज मैं आपको बताऊंगा |

मेरा नाम है कुशल तिवारी , मैं बहुत सालों से ध्यान और आध्यात्म से जुड़ा हूं | आज मैं आपको ध्यान की बारीकियों से लेकर ध्यान के मुख्य उद्देश्य तक की सारी जानकारी दूंगा इसलिए शब्दों को बहुत ही आराम से पढ़े क्योंकि यह विषय आपको जीवन की गहराइयों के रहस्य तक ले जाएगा |

ध्यान क्या है ? | What is Meditation in Hindi

सबसे पहले हम यह जान लेते हैं कि ध्यान (meditation) होता क्या है? ध्यान शब्द बहुत ही कॉमन शब्द है बचपन से ही हमें बोला जाता है पढ़ाई में ध्यान लगाओ , तो क्या यह पढ़ाई में ध्यान लगाने वाला ध्यान और अध्यात्म में जिस ध्यान की बात हो रही है दोनों एक है ! आपको जानकर आश्चर्य होगा की जी हां वह दोनों एक ही ध्यान की बात हो रही है क्योंकि लोग अब इसका वास्तविक अर्थ भूल चुके हैं इसलिए ध्यान शब्द हमारे लिए उतना महत्वपूर्ण नहीं रह गया है |

अगर हम अपने मन को किसी शांत जगह पर बैठकर ध्यान से देखेंगे तो हम पाएंगे की हमारे मन में बहुत विचार आते हैं यह विचार ही हमें विचलित करते हैं | हमे किसी भी काम को मन लगाकर नहीं करने देते है और इन विचारों का कोई क्रम नहीं होता है ,कभी भी कोई भी विचार आ जाता है और हम मनुष्य इन विचारों के गुलाम होने के कारण हम विचार के अनुसार अपने विषय को बदलते रहते हैं |

ध्यान और कुछ नहीं बस हमारे फैले हुए मन को एकाग्र करके संकुचित कर देता है जिससे कि हम धीरे-धीरे विचार मुक्त होते जाते हैं | जैसे-जैसे हम विचारों की गुलामी से आजाद होते हैं हमारे जीवन में सुख और आनंद बढ़ते ही जाता है, हम तनावमुक्त महसूस करते हैं और जीवन में आत्म संतुष्टि का भाव आने लगता है |

ज्यादा ध्यान करने से शरीर में उर्जा का संचार बढ़ जाता है और हम रोगमुक्त होने लगते हैं जिन घरों में घर का कोई भी एक व्यक्ति या एक से ज्यादा व्यक्ति ध्यान करता है वह घर सकारात्मक ऊर्जा से भरा होता है ऐसे घरों में नकारात्मक ऊर्जा ए प्रवेश नहीं कर पाती है | (how to do meditation at home in hindi )

ध्यान करने का उद्देश्य क्या होता है? | What is The Purpose of Meditation

आज का विषय यह है कि घर पर ध्यान कैसे लगाएं ? ( How To Do Meditation At Home in Hindi) पर उससे भी महत्वपूर्ण प्रश्न यह है कि आप ध्यान करना क्यों चाहते हैं? इस प्रश्न को आप खुद से पूछिए ध्यान करने के पीछे आप किस वजह को देखते हैं !

ध्यान करने के लिए लोगों के पास अलग-अलग वजह होते हैं जैसे किसी ने कहीं सुन लिया कि ध्यान करना चाहिए इसलिए ध्यान करते हैं, किसी ने किसी शक्ति को प्राप्त करने के लिए ध्यान करना शुरू किया है, कोई ध्यान रोग से मुक्ति पाने के लिए करता है, कोई सकारात्मक या तनाव मुक्त रहने के लिए करता है |

ध्यान बहुत सारे फायदे और अलग-अलग वजहों के लिए किया जाता है पर यह सभी ध्यान का मुख्य उद्देश्य नहीं है|

ध्यान का मुख्य उद्देश्य आपको विचारों से मुक्त करके आपके वास्तविक रूप को दिखाने का होता है | आप कौन हैं? यह आप तभी जान पाते हैं जब आप गहरी ध्यान में होते हैं ध्यान आपको आत्मज्ञान तक पहुंचाता है और आप पुरुष से महापुरुष बनने तक की यात्रा करते हैं |

यह सब इतना आसान भी नहीं होता है पर जैसे-जैसे आप ध्यान में निपुण होते जाते हैं आप इसके दूसरे छोटे-छोटे लाभों से लाभान्वित होते हैं |

जैसे तनाव मुक्ति, रोग मुक्ति, आत्म संतुष्टि ,इत्यादि | जब आप इसके मुख्य उद्देश्य तक पहुंच जाते हैं उसके बाद आपको ध्यान लगाने की आवश्यकता नहीं होती क्योंकि आप हर समय, सोते ,उठते ,जागते ,कार्य करते हुए भी ध्यान की अवस्था में रहते हैं | How To Do Meditation at Home in Hindi

ध्यान किसे करना चाहिए ? Who Should Do Meditation?

ध्यान किसे करना चाहिए? आइए जानते हैं , ध्यान कोई भी कर सकता है बच्चे से लेकर जवान और बूढ़े सब ध्यान कर सकते हैं | ध्यान के अनेकों फायदे के कारण आयुर्वेद और योग भी बोलता है कि हमें बचपन से ही बच्चों में ध्यान लगाने की आदत डालनी चाहिए जिससे कि उन्हें एकाग्रता (concentration) प्राप्त हो और उन्हें पढ़ाई में मन लगाने में आसानी हो |

जवान व्यक्ति को ध्यान करने से जीवन में आत्म संतुष्टि का भाव प्राप्त होता है और वह अपनी प्रगति पर ध्यान देता है ना कि दूसरों की प्रगति से ईर्ष्या करता है | ईर्ष्या और तुलना ही मनुष्य को तनावग्रस्त करता है | जो व्यक्ति ध्यान करता है वह ईर्ष्या, तुलना और तनाव इन तीनों से मुक्त होते जाता है | How To do Meditation At Home in Hindi

यह भी पढ़ें > ध्यान क्यों कब और कैसे करना चाहिए

घर पर ध्यान कैसे करें ? | How To Do Meditation At Home in Hindi

घर पर ध्यान कैसे कर सकते हैं ? ध्यान घर पर करें या बाहर ध्यान करने का नियम नहीं बदलता है पर परिस्थितियां बदलती है | जिसको देखते हुए हमें कुछ बदलाव करने पड़ते हैं आइए आज हम जानते हैं कि कोई भी व्यक्ति अगर घर पर ध्यान शुरू करना चाहता है तो वह कैसे कर सकता है और कौन सी चीजों का विशेष ध्यान रखना चाहिए | How To Do Meditation At Home in Hindi

साफ और शांत जगह का चुनाव |

घर पर ध्यान शुरू करने से पहले सबसे पहली चीज जो हमें करनी है वह है शान और साफ-सुथरे जगह का चुनाव करना | हमारा ध्यान तभी गहरा होता है जब हम शांति से बैठ कर ध्यान कर रहे हो अगर हम किसी ऐसे जगह पर बैठकर ध्यान करें जहां बहुत शोरगुल हो रहा हो तो हमारा ध्यान टूटता रहेगा और हम कभी भी गहरे ध्यान का अनुभव नहीं कर पाएंगे |

इसलिए घर मैं किसी ऐसे जगह का चुनाव कर ले जहां पर शोरगुल कम होता हो और जगह भी साफ सुथरी हो | हमेशा यही प्रयास करें कि आप जिस जगह पर ध्यान कर रहे हो उसी जगह पर हमेशा ध्यान करें जगह को बार-बार बदले ना !

आराम दे (Comfortable) वस्त्रों का उपयोग करें |

ध्यान करते समय हमें किसी भी प्रकार की असहज स्थिति से बचना चाहिए , इससे हमारा ध्यान उस स्थिति पर जाने लगेगा इसलिए ध्यान करते समय हमेशा ढीले ढाले वस्त्रों का चुनाव करें जिसमें आप बहुत ही आराम से बहुत देर तक बैठ सकते हो |

ऐसे वस्त्र जो कसे हुए होते हैं उन से बचें | ऐसे वस्त्रों में आप बहुत देर तक ध्यान नहीं कर सकते हैं हमेशा हल्की और ढीले वस्त्रों का ही प्रयोग करें | How To Do Meditation at Home in Hindi

यह भी पढ़ें:> क्या रोज ध्यान करना जरूरी है?

ध्यान के लिए सही शारीरिक स्थिति (Body Position ) बनाएं |

ध्यान करते समय कौन से आसन में या स्थिति में बैठना चाहिए इसके बारे में लोगों के मन में बहुत सारा भ्रम है | ध्यान करने के लिए आपको किसी विशेष स्थिति में बैठने की जरूरत नहीं है जिस भी स्थिति में आप बहुत देर तक आराम से बैठ सकते हैं आप उसी स्थिति में बैठकर ध्यान करें |

आपको फिर कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना चाहिए जैसे बैठते समय आपका गर्दन सीधा और पीठ सीधी होनी चाहिए अब यहां पर सीधा का मतलब एकदम अकड़ कर नहीं बैठना है साधारण स्थिति में हम जैसे बैठते हैं वैसे ही बैठना है बस ध्यान रखना है कि हमारा गर्दन झुका हुआ ना हो और पीठ सीधी हो |

प्रयास हमेशा यही करें कि अपने दोनों हाथों की उंगलियों को आपस में फसा ले ऐसा करने से आप बहुत देर तक ध्यान कर सकते हैं क्योंकि ऐसी स्थिति में ध्यान भंग नहीं होता है और हाथों को भी आराम मिलता है |

अगर आपको जमीन में बैठने में दिक्कत महसूस होती है तो आप किसी कुर्सी का के ऊपर कमर और गर्दन को सीधे रखें दोनों हाथों को आपस में फंसा कर आराम से बैठकर ध्यान कर सकते हैं | How To Do Meditation at Home in Hindi

यह भी पढ़ें :- गृहस्थ को सुखी कैसे जीवन जीना चाहिए?

ध्यान कैसे शुरू करें ? How To Start Meditation

ध्यान के लिए सही स्थिति में बैठने के बाद अब मुख्य बात पर आते हैं कि ध्यान कैसे लगाएं ध्यान लगाने के लिए हमें क्या नहीं करना है पहले यह जान ले हमें किसी भी प्रकार के मंत्रों का उच्चारण नहीं करना हमें किसी आकृति के बारे में नहीं सोचना हमें किसी प्रकार की रोशनी या ध्वनि को देखने और सुनने का प्रयास नहीं करना है |

ध्यान में हमें मुख्यत: करना क्या है अब यह जान लेते हैं | जब हम अपनी आंखों को बंद करके बैठत हैं उसके बाद हम विचारों से घीर जाते हैं | ध्यान विशेषत: हमें विचारों से मुक्त करने की एक प्रक्रिया है और इस प्रक्रिया में हमारा साथ देता है हमारी प्राकृतिक सांसे | वह सांसे जो खुद से चल रही है भीतर की ओर जा रही है और बाहर की ओर आ रही है |

हमें अपने मन को अपने प्राकृतिक सांसो को अनुभव करने में लगाना है | हमें यह अनुभव करने का प्रयास करना है कि हमारी सांसे कौन सी नासिका से भीतर की ओर जा रही है और कौन सी नासिका से बाहर की ओर आ रही है हमें इसमें किसी भी प्रकार की छेड़खानी नहीं करनी है बिल्कुल प्राकृतिक सांसों को अनुभव करना है |

यह काम बहुत बारीकी का है हमारे मन को इस काम में लगने में समय लगता है क्योंकि मन को धीरे धीरे एक का गण करना पड़ता है उसके बाद मन इतने संवेदनशील जगह पर टिक पाता है |

शुरू में हमारा ध्यान हमारे सांसों पर नहीं टिक पाएगा इसलिए इसमें जरा भी घबराने की जरूरत नहीं है | यह एक रात का काम भी नहीं है इसलिए दिन प्रतिदिन अभ्यास में लग जाए | कुछ ही दिनों मैं आपका ध्यान लगने लगेगा और बाकी का काम अपने आप आपको समझ में आने लगेगा |

आपको यह बात ध्यान रखना है कि आपको सांसों के साथ किसी भी प्रकार का योगा या व्यायाम नहीं करना आपको प्राकृतिक सांसो पर ध्यान देना है | How To Do Meditation at Home in Hindi

ध्यान से उठने के पहले जरूरी काम !

आप जितनी देर भी ध्यान करते हो, लेकिन एक बात जो आपको अभी तक किसी ने नहीं बताई होगी कि ध्यान करके उठने से पहले एक महत्वपूर्ण काम अगर आप करना शुरू कर देंगे तो उससे आपके जीवन में सकारात्मक ऊर्जा हमेशा बनी रहेगी |

ध्यान करके जब आपको लगे कि अब आपको उठना है उस समय आप कुछ गहरी सांसे ले और छोड़े जिससे कि आपका मन शांत हो जाए उसके बाद आपको उस शांति मनसे बोलना है कि “इस ध्यान से मुझे जो भी सुख और शांति का अनुभव हुआ वह इस दुनिया में सबको मिले, इस दुनिया के सभी जीव जंतु दृश्य और अदृश्य सभी सुखी हो, मैं सब से प्रेम करता हूं और सब मुझसे प्रेम करते हैं, सब सुखी हो सब के दुख दूर हो”

यह सब बातें जब आप शांत मन से सब के लिए कहते हैं तो आपके अंदर एक सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है जिससे आपके मन को भी शांति मिलेगी और आपके शरीर और घर दोनों ही सकारात्मक ऊर्जा से भर जाएगा | How To Do Meditation at Home in Hindi

How To Do Meditation At Home in Hindi Video

ध्यान के फायदे | Meditation Biggest Benefits in Hindi

ध्यान करने की वजह तो बहुत सारे फायदे हैं और हमारे शास्त्रों में भी जहां पर भी आप पड़ेंगे ध्यान के जरूरत के बारे में जरूर बताया गया है ध्यान अपने आप में एक बहुत बड़ी विद्या है जिसे अगर निरंतर अभ्यास मैं रखा जाए तो यह आपके जीवन के स्तर को और ऊंच करते जाता है | आइए जानते हैं ध्यान के कुछ और फायदों के बारे में |

  • जिन व्यक्ति को हमेशा तनाव में रहने की आदत पड़ चुकी है उन्हें ध्यान का अभ्यास जरूर करना चाहिए इससे धीरे-धीरे वह तनाव मुक्त होंगे और जीवन में सुख और मन में शांति का अनुभव करेंगे |
  • एकाग्रता पाने के लिए ध्यान करना बहुत जरूरी है जिन लोगों का मन हमेशा भटकता रहता है एक जगह पर नहीं टिकता उन्हें निर्णय लेने में समस्या होती है क्योंकि उनका मन सही और गलत का फैसला नहीं कर पाता है ऐसे लोगों को ध्यान जरूर करना चाहिए |
  • ध्यान करने से हमारा शरीर सौरमंडल में उपस्थित ऊर्जा से भर जाता है और वह ऊर्जा धीरे-धीरे हमारे नसों में प्रवेश करने लगती है ऐसा होने पर हमारे शरीर में उपस्थित रोग धीरे-धीरे समाप्त होने लगते हैं और हम पहले से कम बीमार पड़ते हैं | How To Do Meditation at Home in Hindi
  • हमारा जीवन हर समय किसी ने किसी समस्या से घिरा रहता है | हम कभी भी इन समस्याओं से बाहर नहीं निकल पाते हैं इन समस्याओं का हल क्या है? ज्ञान ! ज्ञान ही इन समस्याओं का हल है | अज्ञानता के कारण ही हम इस दुनिया में दुखी रहते हैं | ऐसा ज्ञान जो हमारे अनुभव पर उतरे सिर्फ किताबी भाषा में ना रहे वह सिर्फ ध्यान से ही संभव है ज्यादा ध्यान करने से हमें आत्मज्ञान का अनुभव होता है जिससे हम दुनिया के सभी समस्याओं के समाधान निकाल पाते हैं |

ध्यान करने के नुकसान | Drawback of Meditation in Hindi

ध्यान एक बहुत ही बढ़िया साधना है जिसके जरिए हम आत्म संतुष्टि, आत्मज्ञान तक प्राप्त करते हैं | वैसे तो ध्यान में सिर्फ अच्छाइयां ही है ध्यान करने से किसी का भी कभी भी कोई भी बुरा नहीं होता है | ध्यान आपकी जीवन में सिर्फ आनंद हि लाता है |

ध्यान करने का कोई विशेष नुकसान नहीं होता है हां किसी भी चीज की अति अच्छी नहीं होती है इसलिए आप ध्यान को एक कर्मकांड बनाकर ना रखें | ध्यान को एक साधना की तरह करें |मन में कुछ प्राप्ति का भाव लेकर कभी भी ध्यान ना करें इससे आप और तनावग्रस्त हो तो चले जाएंगे | शांत मन से ध्यान करें सिर्फ ध्यान करने के लिए ध्यान करें | How To Do Meditation at Home in Hindi

Conclusion :

हर व्यक्ति जीवन में सुख और आनंद की तलाश कर रहा है और जाने-अनजाने वह इस सुख और आनंद को पैसों में खोज रहा है अगर पैसों से सुख और आनंद खरीदे जाते तो आज बहुतों के घर में सिर्फ खुशी ही खुशी होती है पर ऐसा नहीं है |

जिनके पास धन है वह भी दुखी हैं जो निर्धन है वह भी दुखी है | अगर आप भी जीवन में वास्तविकता में सुख और आनंद की तलाश कर रहे हैं तो उसे अपने भीतर खोजिए | आपके भीतर ही आनंद का भंडार पड़ा है एक बार दिल से उसे खोजने का प्रयास कीजिए आपको जरूर आपको मिलेगा |

इसलिए जरूरी है कि आप को निरंतर घर पर ध्यान का अभ्यास करते रहना चाहिए इससे कभी ना कभी आप अपने वास्तविक स्वरूप का दर्शन कर पाएंगे जिसके बाद आपको सुख और दुख दोनों से परे हो जाएंगे | How To Do Meditation at Home in Hindi

आपका जीवन सफल हो ! ध्यान से ज्ञान तक !

धन्यवाद !

FAQs for How To Do Meditation at Home in Hindi

Q- क्या रोज ध्यान करना जरूरी है

जिस प्रकार हम खाना खाते हैं क्योंकि उसके बिना हम जीवित नहीं रह सकते उसी प्रकार रोज ध्यान का अभ्यास करना भी जरूरी है |

Q- घर पर ध्यान करने के पहले पूजा पाठ करना जरूरी है?

ऐसा जरूरी नहीं है पर ध्यान करने के पहले कुछ ऐसा जरूर करें जिससे कि मन शांत हो क्योंकि शांत मन से ध्यान करेंगे तो ध्यान अच्छा होगा |

Q- क्या घर पर ध्यान करने से परिवार वाले नाराज होते हैं?

शुरू मैं कोई भी नया काम करने से लोगों को थोड़ी तकलीफ होती है और अगर आप उसे अच्छे से समझा पाएंगे तो सब लोग समझ जाएंगे और आपका सपोर्ट भी करेंगे |

Q- क्या ध्यान करने से मन को शांति मिलती है

ध्यान करने के बहुत सारे लाभ है ध्यान से आप मानसिक सुख प्राप्त करते हैं |

How To Do Meditation At Home in Hindi

SHARE

1 thought on “(Meditation) ध्यान करने के 5 महत्वपूर्ण नियमों को जाने | How To Do Meditation at Home in Hindi”

Leave a Comment